समाचार
गठबंधन से तथाकथित नाराज़ शिवसेना के 400 कार्यकर्ता मुंबई में भाजपा में हुए सम्मिलित

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना को झटका लगा है। एएनआई की खबर के अनुसार शिवसेना के ज़मीनी स्तर पर काम करने वाले करीब 400 कार्यकर्ता मुंबई के धारावी के एक कार्यक्रम में शिवसेना की नई प्रतिद्वंद्वी भाजपा में सम्मिलित हो गए।

फ्री प्रेस जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार शिवसेना के 400 कार्यकर्ता पार्टी नेतृत्व के कांग्रेस-एनसीपी के साथ गठबंधन करने के फैसले से नाराज़ थे।

पार्टी के नेता रमेश नायर ने ही अपने साथी सदस्यों को भाजपा में शामिल होने के लिए प्रेरित किया। रमेश नायर के अनुसार वे हिंदुत्व विचारधारा के प्रबल अनुयायी रहे हैं, जिसका शिवसेना ने लगातार पालन किया है।

रमेश नायर ने कहा, “मैं शिवसेना के साथ 10 साल से काम कर रहा था। हम शिवसेना की हिंदुत्व विचारधारा का समर्थन कर रहे थे। मुझे लोगों की सेवा करने के लिए एक कार्यालय दिया गया था लेकिन जैसा कि शिवसेना ने एनसीपी-कांग्रेस के साथ सरकार बनाने का निर्णय किया है और यह हमें स्वीकार्य नहीं है। अब, हम सभी ने भाजपा में शामिल होने का निर्णय किया है।”

शिवसेना द्वारा कांग्रेस-एनसीपी के साथ गठबंधन करने के निर्णय के बाद लंबे समय से शिवसेना के साथ काम कर रहे रमेश सोलंकी ने भी पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी थी। रमेश सोलंकी ने कहा था कि उनकी अंतरात्मा और विचारधारा उन्हें कांग्रेस के साथ काम करने की अनुमति नहीं देती।