समाचार
बंगाल- नारदा घोटाले में एक सप्ताह बाद तृणमूल के चार नेताओं को मिली अंतरिम जमानत

पश्चिम बंगाल के चर्चित नारदा घोटाले में एक सप्ताह से अधिक समय तक सीबीआई की गिरफ्तारी में चल रहे दो मंत्रियों सहित चार नेताओं की शुक्रवार (28 मई) को कलकत्ता उच्च न्यायालय ने अंतरिम जमानत स्वीकृत कर दी।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, तृणमूल के दो मंत्रियों सहित चारों नेताओं को न्यायालय में दो लाख रुपये का मुचलका भरने का आदेश दिया गया। साथ ही दो जमानती भी लाने को कहे गए।

उच्च न्यायालय ने आदेश दिया कि चारों नेता नारदा घोटाले के मामले की जाँच में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगे भी जुड़ते रहेंगे। इनके मामले को लेकर मीडिया में बयान देने पर रोक लगाई गई है। मीडिया भी इस मामले से जुड़ी बात किसी साक्षात्कार में नहीं कर सकती है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से नारदा घोटाले की जाँच के संबंध में हाकिम, सुब्रत मुखर्जी, मदन मित्रा और शोभन चटर्जी के विरुद्ध मामला चलाने की सीबीआई ने स्वीकृति मांगी थी। चुनाव के बाद राज्यपाल ने इसकी अनुमति दे दी थी। गिरफ्तारी के बाद विरोध में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सीबीआई कार्यालय पहुँच गई थी। उन्होंने वहाँ धरना भी दिया था।