समाचार
पतंजलि के लाभ में 39 प्रतिशत की वृद्धि, लॉकडाउन के दौरान 6 प्रतिशत बढ़ा राजस्व

योग गुरु बाबा रामदेव के नेतृत्व वाली कंपनी पतंजलि आयुर्वेद का लाभ वित्तीय वर्ष 2019-20 में 39 प्रतिशत हो गया है। उसका राजस्व भी 6 प्रतिशत बढ़ते हुए 9,024.02 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुँच गया है।

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिकवर्क्स की रेंटिंग्स बताती हैं कि पतंजलि आयुर्वेद को 485 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है। मार्च के आखिरी में लॉकडाउन के बावजूद कंपनी के उत्पादों में तेजी देखने को मिली। वित्तीय वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में भी बिक्री में काफी तेजी हुई है।

जानकारों का कहना है कि एफएमसीजी क्षेत्र की कंपनी होने और हर्बल उत्पादों की मांग के चलते यह बढ़ोतरी दर्ज की गई है। दरअसल, कंपनी के उत्पाद प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले माने जाते हैं और कोरोनावायरस से निपटने के लिए इनकी मांग तेजी से बढ़ी है।

इससे पूर्व, दिसंबर में ब्रिकवर्क्स रेटिंग्स ने पतंजलि का आउटलुक सकारात्मक बताते हुए कहा था कि कंपनी अपने टर्नओवर और मुनाफ को लगातार बढ़ाने में सफल रही है। पतंजलि ने बीते वर्ष दिवालिया हुई कंपनी रुचि सोया का अधिग्रहण किया था, जिसके बाद उसके शेयर 80 प्रतिशत तक बढ़ चुके हैं।