समाचार
अनिवार्य मतदान वाले ऑस्ट्रेलिया में आम चुनाव 18 मई को, ऐसे हैं और भी कई देश

कल (18 मई को) ऑस्ट्रेलिया में आम चुनाव हैं। ध्यान देने योग्य बात यह है कि यहाँ मतदान करना अनिवार्य है। वहाँ 1924 में पहली बार अनिवार्य मतदान के नियम बनाए गए थे। इसके बाद कभी देश का मतदान प्रतिशत 91 से नीचे नहीं गया।

इसके अलावा बेल्जियम, स्विट्जरलैंड, अर्जेंटीना, सिंगापुर, साइप्रस, पेरू, बोलीविया, ग्रीस, ऑस्ट्रिया समेत दुनिया के 33 देश ऐसे हैं, जहाँ अनिवार्य मतदान का प्रावधान है, अमर उजाला  ने बताया। ऐसा न करने पर सजा देने वाले देशों में ऑस्ट्रेलिया, अर्जेंटीना, बेल्जियम, ब्राजील, चिली, साइप्रस, कांगो, इक्वाडोर, फिजी, पेरू, सिंगापुर, स्विट्जरलैंड, तुर्की, उरुग्वे प्रमुख रूप से शामिल हैं।

ऑस्ट्रेलिया में मतदान के लिए पंजीयन और वोट करना कानूनी कर्तव्यों में शामिल है। वोट न करने पर सरकार मतदाता से जवाब माँग सकती है। संतोषजनक जवाब न मिलने पर मतदाता को 20 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (1000 रुपये) के जुर्माने के साथ अदालत के चक्कर भी लगाने पड़ सकते हैं।

अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, सिंगापुर, तुर्की, बेल्जियम सहित अन्य 19 देशों में चुनाव प्रक्रिया लगभग भारत जैसी है। हालाँकि कुछ देशों में 70 साल से ज्यादा उम्र के वृद्धों को अनिवार्य रूप से वोट न करने की छूट है।

कुछ खास बातें

  • ऑस्ट्रेलिया में ऑनलाइन वोट डाल सकते हैं।
  • पेरू और यूनान में वोटिंग न करने वालों को कुछ दिन सार्वजनिक सेवाओं से वंचित कर दिया जाता है।
  • अर्जेंटीना में पुलिस के पास इसका प्रमाण-पत्र देना होता है कि मतदान के दिन आप कहाँ थे।
  • न्यूज़ीलैंड में वोटिंग वाले स्थान पर मतदाताओं के न पहुँचने पर टीम मतदान के लिए लोगों के घर तक जाती है।