समाचार
कांग्रेस की प्रवासियों के लिए 1000 बसों में से 297 के कागज़ात नहीं, 100 बसें ही नहीं

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने दावा किया है कि कांग्रेस द्वारा प्रस्तुत 1,000 बसों की सूची में से 297 में फिटनेस प्रमाण पत्र या वाहन बीमा जैसे उचित कागज़ात नहीं हैं।

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार, प्रवक्ता ने यह भी कहा कि 1,000 वाहनों में से 100 बसें हैं ही नहीं। उनकी जगह पर ऑटो और कार जैसे छोटे वाहन हैं।

मंगलवार (19 मई) को बताया गया था कि योगी सरकार ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा को प्रवासियों को वापस लाने के लिए 1000 बसों को चलाने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था। इसके बाद कांग्रेस ने वाहनों के पंजीकरण संख्या की एक सूची जारी की थी।

इसमें एक नई बात निकलकर आई, जिसमें कई वाहन तब कथित रूप से ऑटो, रिक्शा या कार के रूप में पाए गए, जब सड़क परिवहन मंत्रालय के ऑनलाइन वाहन आरसी डाटाबेस में उसकी जाँच की गई।

इसके बाद प्रियंका गांधी के सचिव संदीप सिंह और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी (यूपीसीसी) के प्रमुख अजय कुमार लल्लू के खिलाफ सरकार को गुमराह करने और सिविल सेवकों व पुलिस के काम में बाधा डालने को लेकर एफआईआर दर्ज की गई।