समाचार
2,550 विदेशी तबलीगी जमातियों पर 10 वर्ष के लिए लगा भारत प्रवेश पर प्रतिबंध

2,500 विदेशी तबलीगी जमात के सदस्य, जो लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए पूरे देश में घूम रहे थे, उन पर 10 वर्ष के लिए भारत में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, गृह मंत्रालय ने काली सूची में डाले गए इन तबलीगी जमात के सदस्यों के बारे में सारी जानकारियाँ विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा दिए गए इनपुट्स से एकत्र की थीं।

माना जाता है कि इनमें से कम से कम 250 विदेशियों ने निज़ामुद्दीन मर्कज़ में तबलीगी जमात की धार्मिक सभा में हिस्सा लिया था, जो देश में कोविड-19 के संक्रमण का सबसे बड़ा केंद्र रहा था। उनमें से कई परीक्षण में कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे।

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने पहले तबलीगी जमात के मामले में 541 विदेशी नागरिकों को आरोप पत्र सौंपा था। उन पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत महामारी रोग अधिनियम, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 और दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 में प्रतिबंधात्मक आदेशों के उल्लंघन के आरोप लगाए गए हैं।

उन पर वीजा नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है। सरकार ने उनका वीजा रद्द कर दिया है और उन्हें काली सूची में डाल दिया है।