समाचार
लॉकडाउन के दौरान उप्र के 2.67 लाख पीएफ खातों से निकाले गए 233 करोड़ रुपये

24 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद से 25 जून तक उत्तर प्रदेश में 2.67 लाख पीएफ अंशधारकों ने अपने जीवनयापन के लिए लगभग 233 करोड़ की धनराशि खाते से निकाल ली। ईपीएफओ के इतिहास में पहली बार तीन महीने में लाखों की संख्या में दावों का निस्तारण किया गया।

हिदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, लॉकडाउन-2 से अनलॉक-1 के बीच पीएफ खाताधारकों ने सबसे अधिक निकासी की है। खास बात यह भी है कि 60,000 से ज्यादा पुराने पीएफ खातों से भी धन निकासी की गई।

यही नहीं, ईपीएफओ क्षेत्रीय कार्यालय में भी पीएफ अंशधारकों की लाइन लग रही। क्षेत्रीय आयुक्त ईपीएफओ वीवीबी सिंह ने बताया कि कोरोनावायरस के मुश्किल वक्त में लगातार लोग पीएफ से धन की निकासी कर रहे हैं। रिकार्ड क्लेम फार्मों का निस्तारण किया गया।

कानपुर क्षेत्र में 22 करोड़ रुपये से ज्यादा का भुगतान सदस्यों को सीधे बैंक खातों में किया गया। उत्तर प्रदेश में 2.67 ने 233 करोड़ और देशभर में 32 लाख पीएफ सदस्यों ने 11,600 करोड़ रुपये की धनराशि निकाली है।