समाचार
हाफिज़ सईद के बहनोई से लेकर मुंबई हमले के आरोपी तक 18 आतंकी घोषित किए गए

केंद्र सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ सख्त नीति अपनाते हुए 18 और व्यक्तियों को मंगलवार (27 अक्टूबर) को गैर कानूनी गतिविधि (निवारण) अधिनियम 1967 के तहत आतंकवादी घोषित किया है। इसमें हाफिज़ सईद के बहनोई से लेकर मसूद अजहर के भाई और डी कंपनी के लोग तक शामिल हैं।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, संशोधित गैरकानूनी गतिविधियाँ रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत व्यक्तिगत आतंकवादी घोषित होने वालों की संपत्तियाँ जब्त की जा सकती हैं। इसमें आईएसआई का साजिद मीर, जिसे कराची से मुंबई हमले की निगरानी की थी।

हिजबुल मुजाहिदीन प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन, लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज़ सईद के बहनोई अब्दुर रहमान मक्की, जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मौलाना मसूद अज़हर के भाई अब्दुल रऊफ असगर, आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के संस्थापक के भतीजे रियाद भाई, इकबाल भटकल, दाऊद इब्राहिम के दाहिने हाथ छोटा शकील और दो अन्य डी कंपनी टाइगर मेमन व जावेद चिकना शामिल हैं।

सरकार ने जिनको आतंकवादी घोषित किया है, उनमें से अधिकतर पाकिस्तान में सक्रिय हैं। इससे पूर्व 13 लोगों को आतंकी घोषित किया जा चुका है। इस तरह कुल 31 व्यक्ति आतंकी घोषित हो चुके हैं।

उधर, पाकिस्तान एफटीएफ की ग्रे सूची से बाहर निकलने में कामयाब नहीं हुआ। उसे आतंकवाद पर कार्रवाई के लिए जरूरी मानकों पर खरा उतरने को फरवरी 2021 तक का समय दिया गया है।