समाचार
18 किसान संगठन कृषि मंत्री एनएस तोमर से मिले, नए कृषि कानूनों को समर्थन दिया

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से वार्ता की। इसके बाद उन्होंने महाराष्ट्र, तेलंगाना, तमिलनाडु, केरल, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार के एक किसान प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की।

डीडी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, प्रतिनिधिमंडल ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के साथ कृषि क्षेत्र को बाज़ार की प्रतिस्पर्धा के लिए खोलने की दिशा में सरकार के प्रयासों को अपना समर्थन दिया।

उन्होंने अपनी मांगों का एक ज्ञापन पेश किया, जिसमें उपकरणों पर आयात दरों को कम करने, कीटनाशकों पर जीएसटी में कटौती और सभी कृषि उपज को न्यूनतम जीएसटी स्लैब में सुनिश्चित करने के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग को प्रोत्साहित करना शामिल है।

बैठक के बाद संतोष व्यक्त करते हुए कृषि मंत्री ने कहा, “अब निर्णय प्रदर्शनकारी किसानों का न्यायालय में है। सरकार सभी समूहों के साथ तीन कानूनों की खंड चर्चा करने के लिए खुला है।”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “कृषि हमारी अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। कृषि कानूनों में नए सुधार किसानों के कल्याण के लिए हैं।

उधर, दिल्ली में प्रदर्शन क रहे किसान सांकेतिक रूप से लंबे समय तक भूख हड़ताल पर बैठे हैं। कुछ राजनीतिक दलों ने भी उनके साथ शामिल होकर अपने अंक बढ़ाए। इसके बाद भाजपा ने उन्हें गुमराह करने के लिए राजनीतिक दलों पर निशाना साधा।

कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने कहा, “कुछ तत्व किसानों के विरोध के नाम पर अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे थे।”