समाचार
धर्म-परिवर्तन का विरोध करने पर त्रिपुरा में 17 वर्षीय हैप्पी की हत्या पर न्यायिक जाँच

हैप्पी देबवर्मा की मौत के मामले में त्रिपुरा की भाजपा सरकार ने न्यायिक जाँच कराने का निर्णय किया है।

समाचार एजेंसी यूएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, त्रिपुरा के उकाकोटी जिले के कुमरघाट स्थित हॉली क्रॉस विद्यालय हैप्पी देबवर्मा की हत्या कर दी गई। 17 वर्षीय हैप्पी उसी विद्यालय की नौंवी कक्षा के छात्र थे।

माना जा रहा है कि ईसाई मिशनरी द्वारा धर्मांतरण के प्रयास के कारण हैप्पी की हत्या हुई है।

आधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि मुख्यमंत्री विप्लव देव बर्मन ने घटना को सुनने के बाद यह आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने इस घटना पर नाराजगी जाहिर करते हुए टिप्पणी भी की है।

मुख्यमंत्री ने अपने टिप्पणी में कहा, “यह घटना निंदनीय है। यह विद्यालय की निराशाजनक स्थिति को दर्शा रही है, जिसमें धर्म-परिवर्तन मुख्य कारक है।” आधिकारिक रिपोर्ट की मानें तो हैप्पी की हत्या धर्म-परिवर्तन का विरोध करने के कारण हुआ है।

वहीं, राज्य के शिक्षा मंत्री रतन लाल नाथ ने कहा, “निजी स्कूलों पर आरोपों की श्रृंखला है और हम उन्हें संभालने के लिए एक नियामक विकसित कर रहे हैं। साथ ही, सरकार छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कुछ कठैर कदम उठाएगी।”