समाचार
बजट में सरकार ने तय किया किसानों को 16.5 लाख करोड़ तक का ऋण देने का लक्ष्य

केंद्रीय बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किसानों को बड़ी सौगात देते हुए कृषि ऋण सीमा को बढ़ा दिया है। किसानों के लिए 16.5 लाख करोड़ रुपये तक का ऋण देने का लक्ष्य तय किया है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, निर्मला सीतारमण ने पशुपालन, डेयरी, मछली पालन से जुड़े किसानों की आमदनी बढ़ाने पर भी ध्यान केंद्रित किया है।

उन्होंने कहा, “2021-22 का बजट छह स्तंभों पर टिका हुआ है। पहला स्तंभ है स्वास्थ्य और कल्याण, दूसरा भौतिक, वित्तीय पूँजी व अवसंरचना, तीसरा आकांक्षी भारत के लिए समावेशी विकास, चौथा मानव पूँजी में नवजीवन का संचार करना, पाँचवाँ नवाचार, अनुसंधान एवं विकास, छठा स्तंभ न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन है।”

बता दें कि इस बार तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में बने माहौल को सामान्य करने के लिहाज से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का यह निर्णय बेहद अहम माना जा रहा है। गत वर्ष 2020-21 के बजट के दौरान भी सरकार ने कृषि ऋण बढ़ाकर 15 लाख करोड़ करने का लक्ष्य रखा था।