समाचार
कर्नाटक में 14 बागी विधायक अयोग्य घोषित, विधानसभा में भाजपा बहुमत आँकड़े पर

कर्नाटक विधानसभा के अध्‍यक्ष केआर रमेश कुमार ने कांग्रेस-जेडी(एस) के 14 बागी विधायकों को अयोग्‍य घोषित कर दिया। ऐसे में बहुमत साबित करने के लिए सरकार में आई भाजपा की राह आसान हो गई है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, कांग्रेस के बैराठी बासवराज, मुनिरत्‍ना, एसटी सोमशेखर, रोशन बेग, आनंद सिंह, एमटीबी नागराज, बीसी पाटिल, प्रताप गौड़ा पाटिल, के. सुधाकर, शिवराम हेब्बार, श्रीमंत पाटिल को अयोग्य घोषित किया गया है। वहीं जेडीएस के के. गोपालैया, नारायण गौड़ा, एएच विश्वनाथ को भी विधानसभा अध्यक्ष ने अयोग्‍य करार दिया।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, “दल-बदल विरोधी कानून के तहत यह निर्णय लिया गया है। अब विधायक न चुनाव लड़ सकते हैं और न ही उपचुनाव के लिए निर्वाचित हो सकते हैं। बागी विधायकों ने संविधान में वर्णित दल-बदल विरोधी कानून को तोड़ा है।”

बीते दिनों एचडी कुमारस्‍वामी की सरकार विधायकों के बागी होने के बाद बहुमत न साबित कर पाने की वजह से गिर गई थी। इसके बाद राज्य के भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उन्हें सोमवार को बहुमत साबित करना है। ऐसे में 17 कांग्रेस-जेडीएस के विधायकों के अयोग्य घोषित किए जाने के बाद बहुमत का गणित बदल गया है।

इससे पहले तीन बागी विधायकों को पहले ही अयोग्य घोषित किया जा चुका है। इस तरह विधानसभा में विधायकों की संख्या 207 बची है। अब भाजपा को बहुमत साबित करने के लिए 105 विधायकों की जरूरत पड़ेगी, जो उसके पास हैं।