समाचार
सरकार के सुधारों के बाद 2019-20 की पहली छमाही में 13 पीएसबी बैंक आए लाभ में

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) की हालत में सुधार होता हुआ दिख रहा है क्योंकि 13 पीएसबी बैंकों ने वर्तमान वित्त वर्ष 2019-20 की पहली छमाही में मुनाफा कमाया है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार पीएसबी बैंकों की हालत पिछले कुछ वर्षों से गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों के कारण बदहाल हो चुकी थी।

शनिवार (28 दिसंबर) को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक के बाद केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मीडिया-कर्मियों के साथ इस खबर को साझा किया। निर्मला सीतारमण ने कहा कि सरकार के प्रयासों और सुधार के लिए किए गए उपायों ने पीएसबी को लाभ में लौटने में मदद की है।

निर्मला सीतारमण ने यह भी बताया कि पीएसबी के सकल एनपीए ने मार्च 2018 में 8.96 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े से सितंबर 2019 में 7.27 लाख करोड़ रुपये की उल्लेखनीय कमी दर्ज की है। उन्होंने यह भी बताया कि हाई-प्रोफाइल एस्सार स्टील मामले के समाधान के साथ भारतीय दिवाला और शोधन अक्षमता कोड (आईबीसी) के निर्माण से बैंकों के लिए 38,896 करोड़ रुपये की वसूली हुई।

सीतारमण ने यह भी बताया कि एस्सार स्टील के समाधान से पिछले साढ़े चार वर्षों में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों द्वारा वसूले गए 4.53 लाख करोड़ रुपये में सुधार हुआ है।