समाचार
हनी ट्रैप में फँसकर भारत के लिए जासूसी करने पर 11 नौसैनिक समेत 13 लोग गिरफ्तार

भारत के खिलाफ जासूसी करने वाले एक बड़े गिरोह का खुलासा हुआ है, जिसके बाद नौसेना के 11 कर्मचारियों सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इन्हें इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान के खुफिया गुप्तचरों द्वारा हनी ट्रैप में फँसाया गया था।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, नौसेना वर्तमान में बड़ी संख्या में सेवा में रहने वाले संदिग्ध कर्मचारियों के सोशल मीडिया प्रोफाइल की जाँच कर रही है। मामले की जाँच आंध्र प्रदेश पुलिस के नेतृत्व में की जा रही है, जिसे नौसेना खुफिया और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों से पूर्ण सहयोग और समर्थन मिल रहा है।

आंध्र प्रदेश पुलिस ने इससे पूर्व हनी ट्रैप में फंसकर नौसेना के सात कर्मचारियों को कथित रूप से जासूसी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया था। वर्तमान में हुई गिरफ्तारियाँ इसके अतिरिक्त हैं। गिरफ्तार किए कर्मचारी कारवाड़, महाराष्ट्र में मुंबई और आंध्र प्रदेश में विशाखापत्तनम सहित विभिन्न नौसेना ठिकानों से संबंधित हैं।

इस बीच यह गौर करने वाली बात है कि भारतीय नौसेना ने देश के खिलाफ जासूसी करने वाले अपने कर्मचारियों के फेसबुक, सोशल मीडिया और स्मार्टफोन के प्रयोग पर कड़ा प्रतिबंध लगा रखा है।