समाचार
उप्र के मुस्लिम आईएएस का कट्टरपंथियों संग मतांतरण की रणनीति बनाते वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश में तैनात एक वरिष्ठ आईएएस मोहम्मद इफ्तिखारुद्दीन का एक कथित वीडियो वायरल हुआ, जिसमें वह भारत के हर घर में इस्लाम फैलाने की रणनीतियों पर चर्चा करते हुए सुना जाता है। इस वीडियो ने एक नया विवाद खड़ा कर दिया है।

वीडियो की तिथि का अभी पता नहीं चला है। इसमें एक धार्मिक नेता भी दिख रहा है, जो आईएएस अधिकारी के बगल में बैठा है।

वीडियो में इफ्तिखारुद्दीन पुरुषों के एक समूह के साथ बैठे दिखाई दे रहा है। सभी सफेद कुर्ता-पायजामा और इस्लामी टोपी पहने हैं। उनका कहना है कि इस्लाम को पूरी दुनिया में और हर घर में फैलाना उनका कर्तव्य है। इस उद्देश्य के लिए उत्तर प्रदेश रणनीतिक रूप से मुख्य है।

एक अन्य संबंधित वीडियो में आईएएस अधिकारी ज़मीन पर बैठा दिखाई दे रहा है, जब एक मुस्लिम वक्ता अपने आधिकारिक आवास पर कट्टरपंथी सबक दे रहा है।

मुस्लिम वक्ता का कहना है कि पंजाब में एक व्यक्ति ने ‘दावा’ (इस्लाम का निमंत्रण) दिए बिना भी इस्लाम धर्म अपना लिया। यह उस व्यक्ति की बहन की मृत्यु के बाद हुआ और उसका अंतिम संस्कार किया गया। दाह संस्कार के दौरान बहन के कपड़े जला दिए गए, जिससे उसका शरीर प्रकट हो गया। उसी समय उसने निर्णय किया कि वह इस्लाम में परिवर्तित हो जाएगा, ताकि उसकी बेटी का दाह संस्कार करने की बजाय उसे दफनाया जाए और वह शर्मिंदगी से बच जाए। इस दौरान वक्ता इस्लाम में मतांतरण के लाभों के बारे में बता रहा है।

इफ्तिखारुद्दीन वर्तमान में उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं।