समाचार
बुलेट ट्रेन- रेल मंत्री को नई महाराष्ट्र सरकार से तेज़ी से भूमि अधिग्रहण व प्रगति की अपेक्षा

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि उन्हें अपेक्षा है कि नई सरकार बनने के बाद महाराष्ट्र में गति से भूमि अधिग्रहण होगा और मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन गलियारा के खंड पर हो रहे काम में भी तेज़ी आएगी।

गत सप्ताह महाराष्ट्र को एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में एक नई सरकार मिली थी, जिन्होंने भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के साथ शिवसेना के विरुद्ध विद्रोह किया था।

उन्होंने कहा, ”पिछली महाराष्ट्र सरकार इस परियोजना को नहीं चाहती थी लेकिन सरकार को जनता ने बदल दिया इसलिए अपेक्षा है कि अब डबल इंजन वाली सरकार से प्रगति होगी।”

वैष्णव ने कहा, “मुझे अपेक्षा है कि यदि हम महाराष्ट्र में भूमि अधिग्रहण करना शुरू करेंगे और इसे प्राप्त कर लेंगे तो हम वहाँ भी काम करना शुरू कर देंगे।”

रेल मंत्री ने कहा, “समग्र बुलेट ट्रेन परियोजना अच्छी तरह से आगे बढ़ रही है और लक्ष्य 2027 तक अहमदाबाद और वापी के मध्य खंड चालू करना है।”

उन्होंने भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान (ईडीआईआई) में कहा, ”अब तक अहमदाबाद-वापी खंड पर 70 किलोमीटर के खंभे बिछाए जा चुके हैं। 160 किमी के बीच नींव रखी गई और आठ नदियों व स्टेशनों पर पुलों का काम गति से चल रहा है। इस वजह से अपेक्षा कि हम कार्य पूरा कर लेंगे।”

वंदे भारत के बारे में अश्विनी वैष्णव ने कहा, 2019 में शुरू की गई पहली दो ट्रेनें मूल रूप से ट्रेन 18 कहलाती हैं और वर्तमान में दिल्ली-वाराणसी और दिल्ली-कटरा मार्गों पर चल रही हैं। उन्होंने अब तक 14 लाख किलोमीटर की दूरी तय की है।

उन्होंने कहा, ”गत वर्ष 75 और वंदे भारत ट्रेनों को स्वीकृति मिली थी और वे निर्माणाधीन हैं। इनका हर संस्करण बेहतर तकनीक के साथ आ रहा है। हम अगस्त से वंदे भारत वर्जन-2 ट्रेनों को शुरू करेंगे और हर माह पाँच-छह ट्रेनें शुरू की जाएँगी।