समाचार
मूडीज़, फिच ने पश्चिमी देशों के प्रतिबंधों के बाद रूस की रेटिंग को ‘कबाड़’ श्रेणी में डाला

रेटिंग एजेंसी मूडीज़ और फिच ने गुरुवार को पश्चिमी देशों द्वारा गंभीर प्रतिबंधों के बाद रूस की सरकारी साख को घटाकर कबाड़ श्रेणी में डाल दिया। इस कदम से पुतिन प्रशासन की उधार लागत में वृद्धि होगी।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, मूडीज़ इनवेस्टर सर्विस ने रूस की दीर्घकालिक और अधिक सुरक्षित (स्थानीय व विदेशी मुद्रा) बॉन्ड रेटिंग को बीएए3 श्रेणी से बी3 में डाल दिया है। वहीं, फिच ने देश की रेटिंग को बीबीबी से घटाकर बी कर दिया है। वर्तमान रेटिंग को लेकर नकारात्मक परिदृश्य में के स्तर पर रखा है।

रूस की रेटिंग को घटाकर ‘कबाड़’ श्रेणी में रखना खतरा दर्शाता है। इसका अर्थ है कि वित्तीय प्रतिबद्धताएँ भले अभी पूरी हो रही हैं लेकिन देश उच्च ऋण संबंधी संकट को लेकर कमजोर स्थिति में है।

मूडीज़ ने एक बयान में कहा, “रूस की रेटिंग को निचले स्तर तक घटाना, इसे और घटाने को लेकर नज़र रखना ये सब पश्चिमी देशों द्वारा रूस पर लगाए गए गंभीर प्रतिबंधों के फलस्वरूप हुआ है। इसके तहत रूस के केंद्रीय बैंक और कुछ अन्य बड़े वित्तीय संस्थानों पर पाबंदियाँ लगाई गई हैं।”

फिच रेटिंग्स ने कहा ने कहा, “अंतर-राष्ट्रीय प्रतिबंधों की गंभीरता ने वृहद-वित्तीय स्थिरता के जोखिम को बढ़ा दिया है। युद्ध के कारण वित्तीय स्थिरता जोखिम में है और यह रूस की अपने सरकारी ऋण को चुकाने की क्षमता को कमजोर कर सकता है।”

बता दें कि गत माह रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में सैनिकों का आदेश दिया था, जिससे अमेरिका और यूरोपीय संघ को उनके और उनकी सरकारी संस्थाओं जैसे बैंकों और कुलीन वर्गों के विरुद्ध व्यापक प्रतिबंध लगाने के लिए विवश होना पड़ा था।