समाचार
एनआरसी राष्ट्रव्यापी नहीं, रोहिंग्याओं की पहचान कर वापस भेजने की तैयारी- संसद में केंद्र

संसद में गृह मंत्रालय ने मंगलवार (10 अगस्त) को मॉनसून सत्र के दौरान स्पष्ट किया कि अब तक राष्ट्रीय स्तर पर एनआरसी को लेकर कोई भी निर्णय नहीं लिया गया है। हालाँकि, रोहिंग्या की पहचान की जा रही और उन्हें वापस भेजने की तैयारी चल रही है।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में जानकारी दी कि अब तक सरकार ने एनआरसी को राष्ट्रीय स्तर पर तैयार करने को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया है।

उन्होंने कहा, “रोहिंग्‍या समेत तमाम अवैध प्रवासी देश की सुरक्षा के लिए खतरा हैं। आए दिन उनके अवैध गतिविधियों में शामिल होने की रिपोर्ट सामने आती रहती हैं। सर्वोच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की गई है, जिसमें भारत में रोहिंग्या नागरिकों के प्रत्यर्पण ना करने का आग्रह किया गया है। अभी यह मामला विचाराधीन है।”

वहीं, यह भी सवाल पूछा गया कि जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के दो वर्ष से अधिक का समय बीतने के बाद अब तक कितने बाहरी लोगों ने वहाँ भूमि खरीदी है। इस पर केंद्र सरकार ने जवाब दिया कि 2019 के बाद से अब तक सिर्फ दो बाहरी लोगों ने भूमि खरीदी है। अब भूमि खरीद में उन्हें किसी तरह की कठिन प्रक्रिया का सामना नहीं करना पड़ रहा है।