समाचार
एलएंडटी को मिला मध्य प्रदेश में आदि शंकराचार्य की 108 फीट प्रतिमा बनाने का अनुबंध

एलएंडटी कंस्ट्रक्शन के बिल्डिंग एंड फैक्ट्रीज (बीएंडएफ) व्यवसाय ने आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के निर्माण के लिए मध्य प्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम लिमिटेड से इंजीनियरिंग, खरीद एवं निर्माण (ईपीसी) आदेश प्राप्त किया है।

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के ओंकारेश्वर में नर्मदा नदी के पास मांधाता पहाड़ी पर 108 फीट ऊंची प्रतिमा को ‘एकता की मूर्ति’ कहा जाएगा।

मूर्ति कांस्य में लिपटी हुई होगी और पत्थर से बनी कमल की पंखुड़ी के आधार पर रखी जाएगी। इसे एक आरसीसी पेडस्टल के ऊपर रखा जाएगा।

आधार से मूर्ति की ऊँचाई यानी पादुका से शीर्ष तक 108 फीट होगी। इस परियोजना को 15 माह में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

एबीपी लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, वहीं, मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने अगली सुनवाई तक 2,000 करोड़ की परियोजना वाली आदि शंकराचार्य की प्रतिमा के निर्माण पर रोक लगा दी।

एकता की मूर्ति परियोजना को मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के ड्रीम प्रोजेक्ट के रूप में देखा जा रहा है। आदि शंकराचार्य की विशाल प्रतिमा के अलावा इसमें आदि शंकराचार्य को समर्पित एक संग्रहालय और एक अंतर-राष्ट्रीय अद्वैत वेदांत संस्थान सम्मिलित है।