समाचार
ग्वालियर व जबलपुर हवाई अड्डों पर नए टर्मिनल भवनों का निर्माण 2023 में पूरा होगा

2023 में मध्य प्रदेश का नागरिक उड्डयन परिदृश्य परिवर्तन के लिए पूरी तरह तैयार है क्योंकि ग्वालियर और जबलपुर दोनों हवाई अड्डों के नए टर्मिनल भवन अगले वर्ष तक पूरे होने वाले हैं।

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) ने 446 करोड़ रुपये की स्वीकृत लागत से ग्वालियर हवाई अड्डे के विस्तार का काम शुरू किया है।

इसमें ग्वालियर हवाई अड्डे पर 1,400 व्यस्त घंटों वाले यात्रियों, सहायक भवनों, कार पार्किंग, शहर की ओर विकास और अन्य संबंधित कार्यों को संभालने के लिए 20,000 वर्ग मीटर के एक नए टर्मिनल भवन का निर्माण सम्मिलित है।

274 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से शुरू किए गए टर्मिनल भवन, सहायक भवन, कार पार्किंग और अन्य संबंधित कार्यों को जुलाई 2023 तक पूरा करने का अनुमान है।

दूसरी ओर, 412 करोड़ रुपये की स्वीकृत लागत से जबलपुर हवाई अड्डे के उन्नयन में एक नए टर्मिनल भवन का निर्माण सम्मिलित है, जिसे जून 2019 में दिया गया था और इसके मार्च 2023 में पूरा होने की अनुमानित तिथि बताई गई थी।

नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में ये जानकारियाँ दी हैं।

मध्य प्रदेश में इंदौर हवाई अड्डा अंतर-राष्ट्रीय संचालन वाला एक सीमा शुल्क हवाई अड्डा है और भोपाल हवाई अड्डा एक घरेलू हवाई अड्डा है, जिसमें अंतर-राष्ट्रीय संचालन को पूरा करने के लिए एकीकृत इंफ्रास्ट्रक्चर है।