समाचार
एलएंडटी को चेन्नई पेरिफेरल रिंग रोड एवं आगरा मेट्रो रेल परियोजनाओं का काम मिला

लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) को तमिलनाडु रोड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन और उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड (यूपीएमआरसीएल) से महत्वपूर्ण अनुबंध मिले हैं।

हालाँकि, कंपनी ने ऑर्डर के सटीक मूल्य का खुलासा नहीं किया है। यह अनुबंध महत्वपूर्ण श्रेणी के अंतर्गत आता है, जो 1,000 करोड़ से 2,500 करोड़ रुपये के मध्य है।

लार्सन एंड टुब्रो के परिवहन अवसंरचना व्यवसाय ने इंजीनियरिंग, उपलब्धता एवं निर्माण (ईपीसी) मोड में सेक्शन-2 के चेन्नै पेरिफेरल रिंग रोड ईपीसी-02 पैकेज के निर्माण हेतु तमिलनाडु रोड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन से एक ऑर्डर प्राप्त किया है।

कंपनी ने मंगलवार (5 अप्रैल) को एक बयान में कहा, “कार्य के दायरे में मोटे तौर पर लचीले फुटपाथ के साथ 12.80 किलोमीटर के छह-लेन ग्रीनफील्ड राजमार्ग का निर्माण, कैरिजवे के दोनों किनारों पर दो लेन सर्विस रोड और पक्के कंधे, ग्रेड चौराहे, बड़े-छोटे पुल, वाहन-हल्के वाहन- छोटे वाहनों के अंडरपास और पुलियों के बाद 7 वर्ष तक रखरखाव भी किया जाता है।”

इस बीच, एलएंडटी के विद्युत पारेषण और वितरण व्यवसाय की सबस्टेशन बिज़नेस यूनिट के साथ रेलवे बिज़नेस यूनिट को यूपीएमआरसीएल से ऑर्डर प्राप्त हुआ है।

कंपनी ने कहा, “इस ईपीसी ऑर्डर में उत्तर प्रदेश में आगरा मेट्रो रेल परियोजना के गलियारों 1 और 2 के लिए 750 वोल्ट डीसी थर्ड रेल ट्रैक्शन सिस्टम, रिसीविंग सबस्टेशन, ग्रिड सबस्टेशन, 33 केवी केबल नेटवर्क, एएसएस, टीएसएस और स्काडा सिस्टम से हाई वोल्टेज केबलिंग सहित डिजाइन, आपूर्ति, स्थापना, परीक्षण और कमीशनिंग सम्मिलित है।”

36 महीने की इस परियोजना को यूरोपीय निवेश बैंक (ईआईबी) द्वारा वित्त पोषित किया जाएगा। कंपनी पहले से ही आगरा मेट्रो के लिए पटरियों का काम कर रही है।

यूपीएमआरसीएल उत्तर प्रदेश के प्रमुख शहरों जैसे कानपुर, आगरा आदि के लिए मेट्रो प्रणाली के काम करने हेतु जिम्मेदार कार्यान्वयन एजेंसियों में से एक है।