समाचार
जय भीम टीम को वन्नियार समुदाय की ओर से कानूनी नोटिस, ₹5 करोड़ मुआवजे की मांग

वन्नियार संगम के प्रदेश अध्यक्ष पुथा अरुलमोझी ने फिल्म जय भीम के अभिनेता सूर्या, ज्योतिका, अमेज़ॉन प्राइम वीडियो और निर्देशक टीजे ग्नानवेल को कानूनी नोटिस भेजा है। उनकी मांग है कि फिल्म के निर्माता समुदाय से बिना शर्त माफी मांगे।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, वन्नियार संगम के प्रदेश अध्यक्ष ने मांग की कि उन सभी दृश्यों को हटाया जाए, जिन्हें उन्होंने मानहानिकारक बताया है। साथ ही एक सप्ताह के भीतर मुआवजे के रूप में 5 करोड़ रुपये की राशि देने की भी मांग की।

भेजे गए नोटिस में एक दृश्य का उल्लेख किया गया, जहाँ अग्नि कुंडम एक कैलेंडर पर दिखाई देता है। असल में, अग्नि कुंडम वन्नियारों का प्रतीक है। भेजे गए नोटिस में दावा किया गया कि निर्माताओं ने जानबूझकर कैलेंडर रखा था। साथ ही राजकन्नू को प्रताड़ित करने वाले पुलिसकर्मी के चरित्र को भी जबरदस्ती वन्नियार जाति से संबंधित दिखाया गया है।

सूर्या ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि फिल्म और उनकी किसी भी व्यक्ति या समुदाय के अपमान करने की कोई मंशा नहीं थी। इसके बाद सूर्या के प्रशंसकों ने जय भीम की टीम का समर्थन करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया और हैशटैग वीस्टैंडविदसूर्या ट्रेंड करने लगा।

बता दें कि जय भीम 2 नवंबर को ओटीटी मंच अमेज़ॉन प्राइम पर आई थी। फिल्म में इरुलर समुदाय जनजाति के बारे में दिखाया गया है कि कैसे हिरासत में उन्हें यातनाएँ दी जाती थीं। फिल्म में हिंदी भाषी लोगों को एक ऐसे दृश्य से परेशानी हुई, जिसमें प्रकाश राज को हिंदी में बोलने के लिए एक आदमी को थप्पड़ मारते दिखाया गया।