समाचार
मप्र खरगोन हिंसा- दंगाइयों से क्षति की वसूली हेतु दो सदस्यीय दावा न्यायाधिकरण गठित

मध्य प्रदेश सरकार ने खरगोन शहर में रामनवमी समारोह के दौरान सांप्रदायिक हिंसा में सम्मिलित लोगों से नुकसान की भरपाई के लिए दो सदस्यीय दावा न्यायाधिकरण का गठन किया है।

एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि न्यायाधिकरण के गठन के लिए मंगलवार को गजट नोटिफिकेशन जारी किया गया।

अधिसूचना के अनुसार, रविवार को खरगोन शहर में हुई हिंसा में हुए नुकसान के आकलन से संबंधित मामलों की सुनवाई के लिए सार्वजनिक एवं निजी संपत्ति वसूली अधिनियम-2021 के प्रावधानों के तहत न्यायाधिकरण का गठन किया गया है।

सेवानिवृत्त जिला न्यायाधीश डॉ शिवकुमार मिश्रा और राज्य सरकार के सेवानिवृत्त सचिव प्रभात पाराशर की अध्यक्षता वाला न्यायाधिकरण तीन महीने में ये कार्य पूर्ण करेगा।

रविवार को रामनवमी उत्सव के दौरान खरगोन में हुई हिंसा के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि क्षति का आकलन करने और दंगाइयों से वसूली हेतु न्यायाधीकरण का गठन किया जाएगा।

रामनवमी के जुलूस के दौरान पथराव के बाद रविवार को पूरे खरगोन शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया था। हिंसा के दौरान वाहनों में आग लगा दी गई थी।

अधिकारियों ने पहले ही कहा था कि हिंसा के सिलसिले में अब तक करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।