समाचार
हिमाचल प्रदेश विधानसभा में खालिस्तानी झंडे लगे मिले, पन्नू को बनाया मुख्य आरोपी

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में रविवार (8 मई) सुबह खालिस्तानी झंडे लगे मिले। इस पर राज्य की पुलिस ने यूएपीए सहित कई धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। खालिस्तानी संगठन सिख्स फॉर जस्टिस के मुखिया गुरपतवंत सिंह पन्नू को मामले में मुख्य आरोपी बनाया गया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने बताया कि मामला दर्ज करने के साथ ही सतर्कता बढ़ा दी गई है। राज्य की सीमाओं को सील कर दिया गया है। हर आने-जाने वालों पर नज़र रखी जा रही है। एडीजीपी, सीआईडी, आईजी, डीआईजी और सभी जिलों के एसपी को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं।

जिन क्षेत्रों में खालिस्तान से जुड़े संदिग्धों के पाए जाने की आशंका है, वहाँ पर सर्विलांस बढ़ा दिया गया है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने खालिस्तानियों को चुनौती देते हुए कहा था, “यदि उनमें हिम्मत है तो रात के अंधेरे में झंडे लगाने की बजाए दिन के उजाले में सामने आएँ।”

मुख्यमंत्री ने खालिस्तानी झंडे और नारे लिखने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। उन्होंने कहा, “वहाँ पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे। हम उन लोगों को पकड़ने का प्रयास करेंगे, जिन्होंने ये काम किया है। हम अपनी सीमाओं की सुरक्षा व्यवस्था की भी समीक्षा करेंगे, ताकि अराजक तत्वों का प्रवेश रोका जा सके।”