समाचार
विद्यार्थी पुलिस कैडेट में हिजाब की अनुमति देकर धर्मनिरपेक्षता प्रभावित नहीं करेंगे- केरल

मुस्लिम छात्रा द्वारा विद्यार्थी पुलिस कैडेट परियोजना में धार्मिक रिवाजों के तहत हिजाब और पूरी बांह का परिधान पहनने की मांगी गई स्वीकृति को केरल सरकार ने खारिज कर दिया। सरकार का कहना है कि राज्य पुलिस के कार्यक्रम में इस तरह की छूट से प्रदेश में धर्मनिरपेक्षता प्रभावित होगी।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य के गृह विभाग ने आदेश में कहा कि सरकार छात्रा के ज्ञापन पर ध्यान देने के बाद पूरी तरह से संतुष्ट है कि शिकायतकर्ता की मांग विचारणीय नहीं है। यदि विद्यार्थी पुलिस कैडेट परियोजना में इस तरह की छूट दी जाती है तो ऐसी मांग अन्य समान बलों में की जाएगी, जो राज्य की धर्मनिरपेक्षता को प्रभावित करेगी।

राज्य सरकार ने कहा कि इस तरह का कोई संकेत देना सही नहीं होगा कि विद्यार्थी पुलिस कैडेट परियोजना में धार्मिक प्रतीकों को दिखाया जाता है। विद्यार्ती पुलिस कैडेट के विभाग ने कहा था कि इस्लामी मान्यताओं के अनुसार सिर पर दुपट्टा और पूरी बाजू की पोशाक पहनने की स्वीकृति नहीं दी जाएगी। इसके बाद छात्रा ने न्यायालय का रुख किया था।

केरल उच्च न्यायालय ने भी इस मांग को खारिज कर दिया था। हालाँकि, न्यायालय ने कहा था कि वह याचिका में उठाई गई शिकायत को राज्य सरकार के सामने रख सकती है। इसके बाद छात्रा ने राज्य सरकार से अनुरोध किया था।