समाचार
हिजाब विवाद- कर्नाटक के मुस्लिम नेता को धमकी, राज्य सरकार का किया था समर्थन

कर्नाटक के उड्डपी के एक कॉलेज में छह छात्राओं की हिजाब पहनने की मांग के बाद पूरे राज्य के शैक्षणिक संस्थानों में इसको लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इस बीच, मांग करने वाली छात्राओं से बात करने का प्रयास करने वाले मुस्लिम नेताओं को अब सरकार का समर्थन करने पर धमकी भरे फोन आ रहे हैं।

रिपोर्टों के अनुसार, कर्नाटक बेरी साहित्य अकादमी के अध्यक्ष रहीम उचिल ने मंगलुरु दक्षिण पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज करवाई कि उन्हें अज्ञात नंबर से फोन आया था, जिसने ना केवल उन्हें गाली दी बल्कि उन्हें मारने की धमकी भी दी थी।

उचिल ने उडुपी के विधायक रघुपति भट के साथ वहाँ के महिला सरकारी पीयू कॉलेज में कक्षा में हिजाब पहनने की मांग के विरुद्ध प्रदर्शनकारी लड़कियों और उनके माता-पिता को समझाने का प्रयास किया था।

उन्होंने कहा, “मैंने शिकायत दर्ज करवा दी और पुलिस मामले की जाँच करेगी। मैं इस तरह की धमकी भरे फोनों से भयभीत होने वाला नहीं हूँ।”

सरकार द्वारा यथास्थिति बनाए रखने के आदेश जारी करने के बावजूद, जहाँ तक कॉलेज परिधान का संबंध है, राज्य भर के विभिन्न कॉलेजों में विद्यार्थियों ने राज्य के आदेशों का पालन करने से मना करते हुए हिजाब पहन रखा है।

उडुपी के विधायक और कॉलेज की कॉलेज विकास समिति के प्रमुख ने कहा कि प्रबंधन अपने मामले का बचाव करने के लिए दस्तावेजी साक्ष्यों के साथ तैयार है।

उन्होंने कहा, “हमारे पास 2002 से लिखित दस्तावेज हैं और 2008 से सभी विद्यार्थियों के कक्षा-वार चित्र लिए गए, जिसमें एक भी विद्यार्थी हिजाब पहने नहीं है। 1 नवंबर तक राज्योत्सव समारोह की सभी छवियों से पता चलता कि हिजाब पहने हुए कोई नहीं है। जो छात्रा न्यायालय गई है, वह एक छात्र संघ की मुखिया है और हमारे पास उसके शपथ ग्रहण की तस्वीरें हैं, जहाँ उसने हिजाब नहीं पहना है।”