समाचार
कर्नाटक- बजरंग दल कार्यकर्ता हत्याकांड में दो और पकड़े गए, अब तक आठ गिरफ्तार

शिवमोगा में बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या के मामले में दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया। वहीं, जिला प्रशासन ने निषेधाज्ञा शुक्रवार तक के लिए बढ़ा दी।

गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने बुधवार को कहा कि उन्होंने घटना की पृष्ठभूमि में जिला मुख्यालय के दो थानों में तैनात पुलिसकर्मियों के विरुद्ध जाँच के आदेश दिए हैं।

शिवमोगा में कोटे और डोड्डापेट पुलिस थानों के प्रदर्शन का ऑडिट करने की आवश्यकता को बताते हुए उन्होंने कहा, “हमें पता लगाने की आवश्यकता है कि गत 5 वर्षों में इन दो पुलिस थानों में कितने पुलिस अधिकारी व कर्मी थे और उन्होंने इनकी (आठ गिरफ्तार) निगरानी कैसे की, जिनका एक बड़ा आपराधिक अतीत है।”

शिवमोगा के पुलिस अधीक्षक बीएम लक्ष्मी प्रसाद ने मंगलवार को कहा कि 28 वर्षीय हर्ष की हत्या के मामले में छह लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया।

अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा, “आठ लोगों को आधिकारिक तौर पर गिरफ्तार किया गया, जबकि अन्य से पूछताछ जारी है। सभी आरोपियों की पृष्ठभूमि की जाँच हो रही है। उनमें से ज्यादातर का लंबा आपराधिक इतिहास है।”

मंत्री ने कहा, “हम इसे एक साधारण हत्या के मामले के रूप में नहीं देखते।” कुछ समूहों में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया, सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया और कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया पर प्रतिबंध लगाने की मांग के बारे में पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि इनकी भूमिका की जाँच की जा रही है।

पुलिस ने सोमवार को शहर में बजरंग दल कार्यकर्ता के अंतिम संस्कार के जुलूस के दौरान निषेधाज्ञा के उल्लंघन का मामला दर्ज किया। उस दौरान आगजनी और पथराव की घटनाएं हुई थीं, जिसमें 20 लोग घायल हो गए थे।

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आठ लोगों में मोहम्मद काशिफ, सैयद नदीम, आशिफुल्ला खान, रेहान खान, नेहाल और अब्दुल अफनान सम्मिलित हैं। ये सभी शिवमोगा के हैं।