समाचार
जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर ने ओडिशा में कोयला टर्मिनल का वाणिज्यिक संचालन शुरू किया

जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर ने ओडिशा में पारादीप पूर्व क्वे कोयला टर्मिनल में वाणिज्यिक परिचालन शुरू कर दिया है।

पारादीप पोर्ट ट्रस्ट में पूरी तरह से मशीनीकृत टर्मिनल केप-अनुपालन है और इसकी वार्षिक कोयला उठाने की क्षमता तीन करोड़ टन है।

पारादीप बंदरगाह पर तलकर्षण कार्य पूरा होने के बाद यह केप आकार के जहाजों को संभालेगा। बंदरगाह में टर्मिनल स्थापित करने के लिए 1,300 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। यह दैनिक आधार पर एक साथ 25 और दो रेकों को उतार और लोड कर सकता है।

जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर को 30 वर्ष के लिए निर्माण, संचालन एवं स्थानांतरण (बीओटी) के आधार पर पूरी तरह से यंत्रीकृत कोयला टर्मिनल विकसित करने की ज़िम्मेदारी दी गई है।

इस टर्मिनल के चालू होने के साथ कंपनी की वर्तमान मालवाहक क्षमता 150 एमटीपीए को पार कर गई है। जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर की योजना वित्त वर्ष 24 तक कुल क्षमता को 200 एमटीपीए तक बढ़ाने की है।

यूएनआई इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, हाल ही के दिनों में भाप कोयले की कीमतों में कथित तौर पर वृद्धि हुई है और इसने कोयला आधारित उद्योगों को घरेलू कोयले में बदलाव करने के लिए विवश किया है।

जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर का कहना है कि घरेलू कोयले की मौजूदा मांग के अंतर को भरने के लिए यह टर्मिनल उचित समय पर आया है। उनके पास एक लौह अयस्क टर्मिनल भी है, जिसमें वार्षिक एक करोड़ टन लौह अयस्क/छर्रों को संभालने की क्षमता है।