शिक्षा-नौकरी
रिक्त शिक्षक पदों के लिए क्या है योगी सरकार की योजना, शिक्षामित्रों की पदोन्नति संभव

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने बुधवार (3 मार्च) को साफ कर दिया कि शिक्षामित्रों का मानदेय बढ़ाने का वर्तमान में कोई प्रस्ताव नहीं है। साथ ही उनको स्थायी शिक्षक की नौकरी देने के लिए एक और भर्ती भारांक दिया जाएगा।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, विधानपरिषद में समाजवादी पार्टी (सपा) के सदस्य डॉ मान सिंह के प्रश्न के उत्तर में आधारभूत शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने जवाब दिया।

बसपा विधायक विनय शंकर तिवारी के प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को लेकर पूछे गए प्रश्न के जवाब में सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा, “परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों का जिले के अंदर समायोजन गर्मियों की छुट्टियों के दौरान किया जाएगा। जिन स्कूलों में अतिरिक्त शिक्षक हैं, उन्हें दूसरी जगह तैनात किया जाएगा। प्रदेश में एक भी परिषदीय विद्यालय शिक्षक के बिना नहीं चल रहे हैं।”

आधारभूत शिक्षा मंत्री ने कहा, “कई विद्यालयों में एक शिक्षक तो कहीं शिक्षामित्र या अनुदेशक से ही विद्यार्थियों की शिक्षा जारी रखवाई जा रही है। शिक्षा का अधिकार कानून के तहत स्कूलों में 30 छात्रों पर एक शिक्षक की तैनाती का नियम है। प्रदेश में यह औसत 36 छात्रों पर एक शिक्षक का है। उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 35 छात्रों पर एक शिक्षक का नियम है पर इसमें औसत 53 छात्रों पर एक शिक्षक का है।”

उन्होंने आगे कहा, “सहायक अध्यापकों की पदोन्नति पर उच्च न्यायालय की रोक के कारण उच्च प्राथमिक विद्यालयों में रिक्त पद अधिक हैं। सरकार इसके निस्तारण में लगी हुई है। प्रदेश सरकार ने चार वर्ष में 1,19,287 सहायक अध्यापकों की भर्ती की है। एडेड जूनियर हाई स्कूलों में 1894 सहायक अध्यापकों की भर्ती की कार्यवाही शुरू हो गई है।”

आधारभूत शिक्षा मंत्री ने कहा, “योगी सरकार जल्द सहायक अध्यापकों के तबादलों की नियमावली में संशोधन कर नई नियमावली लाने के लिए प्रयासरत है। इसके बाद ग्रामीण से शहरी और शहरी से ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षकों के तबादलों का रास्ता साफ हो जाएगा।”

उन्होंने कहा, “प्रदेश में कायाकल्प अभियान के बाद सरकारी विद्यालयों में बड़ा परिवर्तन आया है। इससे परिषदीय स्कूलों के करीब निजी स्कूल बंद होने लगे हैं। सभी उच्च प्राथमिक विद्यालयों में जल्द ही बच्चों के लिए डेस्क बैंच उपलब्ध करवाई जाएँगी।”