शिक्षा-नौकरी
आईएएस साक्षात्कार में असफल हुए अभ्यर्थियों के लिए खुलेंगे सरकारी नौकरी के द्वार

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने केंद्र सरकार और मंत्रालयों को सुझाव दिया है कि उन परीक्षार्थियों को अन्य नौकरियों के लिए भर्ती किया जाए जो साक्षात्कार चरण तक पहुँचते हैं पर इसे पार करने में असफल होते हैं, द न्यू इंडियन एकस्प्रेस  ने बताया।

हर वर्ष 11 लाख परीक्षार्थी आवेदन भरते हैं जिसमें से आधे परीक्षा में उपस्थिति दर्ज कराते हैं। हर चरण में छँटते-छँटते अंततः मात्र 600 अभ्यर्थी चुने जाते हैं। इन कठिन परीक्षाओं से गुज़रे छात्रों को सरकार चुन सकती है। इससे परीक्षा तनाव में भी कमी आएगी, यूपीएससी अध्यक्ष अरविंद सक्सेना ने बताया।

उन्होंने बताया कि यूपीएससी परीक्षा प्रणाली को अभ्यर्थियों के लिए सुलभ बनाने का भी प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि आवेदन भरते समय ही अभ्यर्थी से पूछा जाएगा कि वे दूसरी सरकारी नौकरी के लिए इच्छुक हैं यह नहीं।