शिक्षा-नौकरी
2019 में महिलाओं के लिए 20 प्रतिशत अधिक रोजगार विकल्प- भारतीय कौशल रिपोर्ट

भारतीय कौशल रिपोर्ट 2019 के अनुसार बैंकिंग, वित्तीय सेवाओं व बीमा, मोटर वाहन, सूचना प्रौद्योगिकी, सॉफ्टवेयर, आतिथ्य और परिवहन के क्षेत्र में महिलाओं की भर्ती में 15-20 प्रतिशत तक की वृद्धि होगी, इंडिया टुडे  ने रिपोर्ट किया।

पीपल स्ट्रांग द्वारा किए गए सर्वेक्षण में 15 विभिन्न क्षेत्रों के 1000 से अधिक संस्थाओं से जानकारी जुटाई गई। “बहुत कुछ करना शेष है। सर्वेक्षण से पता चला कि बाधक सामाजिक मानकों, कार्यक्षेत्र पर सुरक्षा और कुशल महिलाओं की अल्पता से महिलाओं की भागीदारी पर असर पड़ता है।”, पीपल स्टांग की ओर से देवाशीष शर्मा ने पीटीआई  को बताया।

उल्लेखनीय है कि विकासशील देशों में से भारत में 27 प्रतिशत की न्यूनतम मजदूर बल भागीदारी दर है। रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि हालाँकि 2017 में 38 प्रतिशत से 2018 में 46 प्रतिशत तक महिला रोजगार बढ़ाया गया है लेकिन अभी कई सुधार किए जाने की आवश्यकता है।

कार्यक्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी के प्रोत्साहन की बात पर शर्मा ने कहा, “महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्चित करके यह किया जा सकता है। एक उपदेशक संरचना को तैयार कर उन्हें प्रोत्साहित किया जा सकता है।”

हालाँकि वेलोसिटी एमआर द्वारा कराए गए एक दूसरे सर्वेक्षण से पता चला है कि मी टू आंदोलन के बाद 80 प्रतिशत पुरुष महिलाओं से व्यवहार के प्रति अधिक सतर्क हो गए हैं।