समाचार
जम्मू-कश्मीर राष्ट्रीय एकल खिड़की व्यवस्था संग एकीकृत पहला केंद्र शासित प्रदेश बना

उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के लिए एकल-खिड़की पोर्टल लॉन्च किया। यह राष्ट्रीय एकल-खिड़की प्रणाली के साथ एकीकृत होने वाला पहला केंद्र शासित प्रदेश बन गया।

उप-राज्यपाल ने कहा कि जहाँ 130 औद्योगिक सेवाओं को एकल-खिड़की व्यवस्था पर ऑनलाइन कर दिया गया। वहीं, इस वर्ष 160 से अधिक सेवाओं को एकीकृत किया जाएगा।

उन्होंने व्यवस्था को निवेश की सुविधा के लिए एक ऐतिहासिक कदम बताते हुए कहा, “अब वैश्विक निवेशक राष्ट्रीय एकल-खिड़की व्यवस्था के माध्यम से जम्मू-कश्मीर में अपने सभी व्यावसायिक अनुमोदनों के लिए आवेदन कर सकते हैं।”

सिन्हा ने कहा, “हम केंद्र शासित प्रदेश को घरेलू व विदेशी कंपनियों के साथ साझेदारी से जोड़ रहे हैं और अपने नियामक संस्थानों व प्रणालियों में वैश्विक सर्वोत्तम प्रथाओं को सुनिश्चित कर रहे हैं।”

उन्होंने जम्मू-कश्मीर में औद्योगिक सुधार लाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त करते हुए कहा, “गत एक वर्ष में नई औद्योगिक विकास योजना के शुभारंभ के बाद से केंद्र शासित प्रदेश को उद्योगों एवं सेवा उद्यमों हेतु अधिक प्रतिस्पर्धी व आकर्षक बनाने की नीतियाँ विकसित हुई हैं।”

एलजी ने कहा, “इन सुधारों से हमें एक वर्ष के भीतर विभिन्न क्षेत्रों में 70,000 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने में सहायता मिली है। हमारा प्रशासन केंद्र शासित प्रदेश की विद्युत और सड़क के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत कर रहा है। साथ ही संयोजकता और कानून-व्यवस्था की स्थिति में सुधार ला रहा है।”