समाचार
नुपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर रांची में जुमे की नमाज़ बाद हुई हिंसा में दो लोगों की मौत

टीवी बहस के दौरान पैगंबर पर भाजपा नेता नुपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर झारखंड की राजधानी रांची में जुमे की नमाज़ के बाद विरोध प्रदर्शन हुआ। इस दौरान हिंसा भी भड़क गई, जिसमें कम से कम दो लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

भाजपा की निलंबित नेता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग कर रहे प्रदर्शनकारी पुलिस से भिड़ गए, जिस पर अधिकारियों को लाठीचार्ज करना पड़ा और हवा में गोलियाँ चलानी पड़ीं।

एएनआई की रिपोर्ट में राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) के अधिकारियों ने पुष्टि की, “रांची में हुई हिंसा के बाद रिम्स लाए गए कुछ घायलों में से दो लोगों की मृत्यु हो गई।

एएनआई के हवाले से झारखंड पुलिस ने कहा, “शुरुआती रिपोर्टों के अनुसार, 11 पुलिस कर्मी और 12 प्रदर्शनकारी घायल हो गए और विभिन्न अस्पतालों में उनका उपचार चल रहा है।”

शुक्रवार की नमाज़ के बाद शुरू हुआ प्रदर्शन पथराव और कई वाहनों में आग लगाने व तोड़फोड़ की घटनाओं के बाद हिंसक हो गया था।

स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अधिकारियों को शहर के कई भागों में कर्फ्यू लगाना पड़ा और इंटरनेट सेवाएँ बंद करनी पड़ीं।

अधिकारियों ने लोगों से शांति बनाए रखने का आग्रह किया। साथ ही इस बात पर बल दिया कि अब स्थिति नियंत्रण में है।

इस बीच, पैगंबर के विरुद्ध नूपुर शर्मा की टिप्पणी को लेकर दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बंगाल, राजस्थान और महाराष्ट्र और झारखंड सहित देश के कई भागों में जुमे की नमाज़ के बाद विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी की गई।

प्रयागराज के अटाला क्षेत्र में जुमे की नमाज़ खत्म होने के बाद लोगों ने नारेबाजी की और पथराव किया।