समाचार
“लड़कियों की विवाह की उम्र बढ़ाने की बजाय 16 वर्ष करें”- झारखंड मंत्री हाफिजुल

लड़कियों के विवाह की न्यूनतम उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष करने के प्रस्ताव को लेकर झारखंड के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाफिजुल हसन ने बयान दिया कि केंद्र सरकार को लड़कियों के विवाह की उम्र बढ़ाने की बजाय कम करनी चाहिए। इसको लेकर उन्होंने प्रतिद्वंद्वी राजनीतिक दलों की आलोचना शुरू कर दी।

हिंदुस्तान टाइम्स के हवाले से मंत्री हाफिजुल हसन ने कहा, “आजकल लड़कियों के विकास को देखते हुए इसे घटाकर 16 वर्ष करना चाहिए। नहीं तो 18 वर्ष पर ही रखना चाहिए।”

हसन झारखंड स्थित राजनीतिक संगठन झारखंड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ नेता हैं। उनके इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता ने कहा कि एक मंत्री को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए।

बता दें कि केंद्र सरकार ने हाल ही में प्रस्ताव पेश किया और कैबिनेट ने महिलाओं के लिए विवाह की कानूनी उम्र वर्तमान 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष करने के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है।