समाचार
इसरो गगनयान से पहले दो से अधिक मानव रहित अभियानों को कार्यान्वित कर सकता है

योजनाबद्ध दो मानव रहित अभियानों की बजाय भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) महत्वाकांक्षी गगनयान कार्यक्रम के तहत मानव अंतरिक्ष उड़ान से पूर्व इस तरह के और अधिक अभियानों को कार्यान्वित कर सकता है।

पहले दो मानव रहित अभियानों को पूरा करने के बाद राष्ट्रीय स्तर की गगनयान सलाहकार परिषद (जीएसी) अंतिम निर्णय करेगी कि इसरो को दो अभियानों के आधार पर कितने मानवरहित मिशनों को पूरा करने की आवश्यकता हो सकती है।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए इसरो प्रमुख डॉ के सिवन ने बताया, “जीएसी ने सलाह दी है कि पहला बिना कर्मीदल वाला अभियान जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए। पहले और दूसरे बिना कर्मीदल अभियान और डाटा के मूल्यांकन के दौरान सिस्टम कैसे प्रदर्शन करते हैं, इसके आधार पर जीएसी तय करेगा कि अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने से पहले हमें और मिशन की आवश्यकता है या नहीं।”

उन्होंने यह भी साझा किया कि अंतरिक्ष यात्रियों को एक सप्ताह के लिए अंतरिक्ष में रखने की तैयारी (सिस्टम का विकास) की जा रही है। हालाँकि ,इसरो पहले मिशन से सतर्क हो सकता है। उन्होंने कहा, “अंतरिक्ष यात्री कितने समय तक अंतरिक्ष में रहेंगे, इस पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है।”