समाचार
इसरो ने पीएसएलवी-सी52 के माध्यम से उपग्रह ईओएस-04 को सफलतापूर्वक लॉन्च किया

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने सोमवार को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से पीएसएलवी-सी52 के माध्यम से उपग्रह ईओएस-04 सफलतापूर्वक लॉन्च किया। इसके साथ दो और छोटे उपग्रहों को भी अंतरिक्ष भेजा गया।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, रविवार को ही इस अभियान की उल्टी गिनती शुरू हो गई थी, जो 25 घंटे और 30 मिनट की थी। लॉन्च के साथ ही लोगों ने तालियाँ बजाकर इसका स्वागत किया।

पीएसएलवी-सी52 के माध्यम से धरती की कक्षा में भेजा गया उपग्रह ईओएस-04 पृथ्वी की निगरानी का काम करेगा। ईओएस-04 एक राडार इमेजिंग उपग्रह है, जिसका काम कृषि, वृक्षापोपण, मिट्टी की नमी, बाढ़ मानचित्र, जल विज्ञान और मौसम विज्ञान संबंधी जानकारियाँ भेजना है।

इसके साथ भेजे गए दो छोटे ध्रुवीय उपग्रह को कोलोराडो यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर तैयार किया गया है। एक उपग्रह को भारतीय अंतरिक्ष एवं प्रौद्योगिकी संस्थान में बनाया गया है। अब इनके माध्यम से आयनमंडल और सूर्य की कोरोनल ऊष्मीय प्रक्रियाओं के बारे में शोध किया जाएगा। दूसरे उपग्रह के जरिए भूमि के तापमान, आर्द्रता आदि का पता लगाया जाएगा।

बता दें कि पीएसएलवी की यह 54वीं उड़ान है। इसके अतिरिक्त, 6 पीएसओएस-एक्सएल (स्ट्रैपऑन मोटर्स) के माध्यम से इस सिस्टम का प्रयोग करते हुए यह 23वाँ अभियान है। पीएसएलवी के जरिए भेजे गए इस उपग्रह को धरती से 529 किलोमीटर की ऊँचाई पर स्थापित किया गया है।