इन्फ्रास्ट्रक्चर
घर बैठे आई आई टी-जेईई और कैट देना चाहते हैं? टी सी एस ने कहा संभव

टी सी एस आई-ऑन के वैश्विक प्रमुख वेंगुस्वामी रामास्वामी ने कहा है कि आई आई टी-जेईई, कॉमन ऐडमिशन टेस्ट (कैट) जैसी प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाएँ और अन्य कंप्यूटर-आधारित परीक्षाएँ अब घर बैठे दी जा सकेंगी, गैजेट्स नाउ  ने रिपोर्ट किया।

“असल में घर पर ही क्यों? भविष्य में आप समुद्र तट पर, पहाड़ों पर बैठकर आई आई टी-जेईई, कैट और अन्य कंप्यूटर-आधारित सरकारी परीक्षाएँ अपने मोबाइल के माध्यम से दे सकते हैं। यह सुविधा देने की तकनीक उपलब्ध है और अगर प्राधिकारी इस बात के लिए तैयार हो जाते हैं तो हम इस तरह से परीक्षाओं को आयोजित कर पाएँगे।”, रामास्वामी ने कहा।

टी सी एस आई-ऑन की तकनीक का प्रयोग शिक्षा व नैकरी की 80 प्रतिशत प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षाओं में होता है। कंप्यूटर-आधारित परीक्षाओं में मानवीय हस्तक्षेप की गुंजाइश नहीं रहती।

“हमारे पास आज भी कंप्यूटर-आधारित परीक्षाओं की प्रामाणिकता जाँचने के लिए कई परीक्षण उपलब्ध हैं।”, रामास्वामी ने प्रस्ताव पर अपना विश्वास जताते हुए कहा। आज हमारे पास फिंगरप्रिंट स्कैनर, अग्र (फ्रंट) कैमरा और माइक जैसी तकनीक उपलब्ध है जो सभी स्मार्टफोनों में उपलब्ध है। विशेष परीक्षा ऐप बनाकर यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि परीक्षार्थी किसी प्रकार के गलत साधनों का प्रयोग न करे।