इन्फ्रास्ट्रक्चर
जेवर हवाई अड्डा- भूमि अधिग्रहण के लिए योगी सरकार ने आवंटित किए 894 करोड़ रुपये

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार ने जेवर हवाई अड्डा परियोजना को आगे बढ़ाया है। मंगलवार (28 मई) को कैबिनेट ने परियोजना के कारण विस्थापित होने वाले परिवारों के पुनः स्थापन और पुनर्वास के लिए 894 करोड़ रुपये आवंटित कर दिए हैं।

इस कार्य के हो जाने से भूमि अधिग्रहण का रास्ता खुल चुका है जिसके बाद उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में स्थित जेवर में एक अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण कार्य प्रारंभ होगा। परियोजना नियंत्रण व कार्यान्वयन कमिटी द्वारा प्रस्तावित समय सीमा के अनुसार इस परियोजना के लिए वैश्विक टेंडर घोषित करने की अनुमति भी कैबिनेट ने दी है।

एयरपोर्ट निर्माण का अनुमानित व्यय 15,000-20,000 करोड़ रुपये है। इसका विस्तार 5,000 हेक्टेयर के क्षेत्रफल में होगा और यह भारत का सबसे बड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में यह दूसरा एयरपोर्ट होगा और इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के साथ-साथ यह दिल्ली और आसपास के लोगों की आवश्यकताओं को पूरा करेगा।