इन्फ्रास्ट्रक्चर
“जनता का पैसा बर्बाद करना कांग्रेस से सीखें”, प्रधानमंत्री ने हरियाणा में एक्सप्रेसवे का किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिमी परिधीय एक्सप्रेसवे के कुंडली-मनेसर अनुभाग को उद्घाटन किया और हरियाणा में बल्लभगढ़-मुजेसर मेट्रो मार्ग को हरी झंडी दिखाई। उन्होंने विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की शीलान्यास भी किया।

इन परियोजनाओं के उद्घाटन के बाद पिरधानमंत्री ने कहा कि ये दो इंफ्रास्ट्रक्चर संपर्क साधनों में एक क्रांति लाएँगे। उन्होंने यह भी कहा कि कौशल विश्वविद्यालय से क्षेत्र के युवकों को बेहतर शिक्षा मिल सकेगी।

प्रधानमंत्री ने पिछली कांग्रेस सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि एक्सप्रेसवे की परियजना में विलंब उनके कारण हुआ, अन्यथा यह कार्य आठ-नौ साल पहले पूरा हो जाना चाहिए था।

“जिस विधि से पुरानी सरकारों ने काम किया है, वह एक केस अध्ययन का विषय हो सकता है कि जनता के पैसों को कैसे बर्बाद किया जाए”, उन्होंने कहा।

उन्होंने कहा कि एक्सप्रेसवे दिल्ली और आसपास के इलाकों में प्रदूषण कम करने में सहायक सिद्ध होगा। एक्सप्रेसवे जीवन वहन व परिवहन को भी आसान करेगा।

6,400 करोड़ रुपए की लागत से बना 135 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेसवे के माध्यम से 50,000 से ज़्यादा भारी वाहन दिल्ली के दूर से निकल पाएँगे और यह हरियाणा के उत्तरी व दक्षिणी जिलों को भी आसानी से जोड़ेगा।

इसके साथ ही फरीदाबाद, बहादुरगढ़ और गुरुग्राम के बाद, बल्लभगढ़ मेट्रो से जुड़ने वाला हरियाणा का चौथा शहर हो गया है। एस्कॉर्ट्स मुजेसर-बल्लभगढ़ मार्ग के जुड़ने के बाद अब हरियाणा में मेट्रों मार्ग की कुल लंबाई 29 किलोमीटर हो गई है।