समाचार
तेल-प्राकृतिक गैस की खोज हेतु ओएनजीसी ने नॉर्वे की कंपनी इक्विनॉर संग भागीदारी की

तेल एवं प्राकृतिक गैस कॉरपोरेशन लिमिटेड (ओएनजीसी) ने तेल एवं गैस खोज के साथ स्वच्छ ऊर्जा परियोजना के लिए नॉर्वे के स्वामित्व वाली बहुराष्ट्रीय ऊर्जा कंपनी इक्विनॉर एएसए के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

बुधवार (26 अप्रैल) को नई दिल्ली में कार्बन कैप्चर यूटिलाइजेशन एंड सीक्वेस्ट्रेशन (सीसीयूएस) सहित अपस्ट्रीम एक्सप्लोरेशन एंड प्रोडक्शन, मिडस्ट्रीम, डाउनस्ट्रीम और स्वच्छ ऊर्जा विकल्पों के क्षेत्रों में सहयोग और साझेदारी के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।

इक्विनॉर एएसए (एएसए) नॉर्वे महाद्वीपीय शेल्फ का नामी संचालक है और कंपनी का कारोबार वैश्विक स्तर पर 30 से अधिक देशों में विस्तारित है।

नॉर्वे के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल की भारत यात्रा के दौरान समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इस अवसर पर केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी, नॉर्वे के विदेश मंत्री एनीकेन हुइटफेल्ड, ओएनजीसी के सीएमडी डॉ अलका मित्तल और इक्विनोर के कार्यकारी उपाध्यक्ष इरेन रुमेलहॉफ उपस्थित थे।

समझौते के अनुसार, ओएनजीसी और इक्विनोर दोनों अपस्ट्रीम तेल एवं गैस, मिडस्ट्रीम, मार्केटिंग और ट्रेडिंग में भी सहयोग करेंगे। इसके अतिरिक्त, भारत में कम कार्बन ईंधन, अक्षय, कार्बन कैप्चर स्टोरेज (सीसीएस) के साथ कार्बन कैप्चर यूटिलाइजेशन एंड सीक्वेस्ट्रेशन (सीसीयूएस) में और विकल्प तलाशेंगे।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने कहा, “एमओयू दो साल के लिए वैध है, जिसके तहत दोनों कंपनियों ने चिह्नित क्षेत्रों में मिलकर काम करने पर सहमति जताई है।”