समाचार
2031 तक स्थापित परमाणु ऊर्जा क्षमता 22,480 मेगावॉट करने का लक्ष्य- केंद्र सरकार

केंद्र सरकार ने गुरुवार (24 मार्च) को संसद को जानकारी दी कि वर्तमान में देश में 6,780 मेगावॉट की विद्युत उत्पादन क्षमता वाले 22 परमाणु ऊर्जा संयंत्र चालू हैं और क्षमता को वर्ष 2031 तक बढ़ाकर 22,480 मेगावॉट करने का लक्ष्य रखा गया है।

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, “देश में वर्तमान में स्थापित परमाणु ऊर्जा क्षमता 6,780 मेगावॉट है, जिसमें 22 परिचालन परमाणु ऊर्जा रिएक्टर सम्मिलित हैं। इसके अतिरिक्त, एक रिएक्टर, केएपीपी-3 (700 मेगावॉट) को भी जनवरी 2021 में ग्रिड से जोड़ा गया है।”

मंत्री ने कहा कि भारत जीवाश्म ईंधन संसाधनों में बहुत समृद्ध नहीं है और बढ़ती ऊर्जा मांग को देखते हुए सभी ऊर्जा स्रोतों को किफायती रूप से तैनात किया गया है।

जितेंद्र सिंह ने कहा, “परमाणु ऊर्जा विद्युत उत्पादन का एक स्वच्छ और पर्यावरण के अनुकूल स्रोत है, जो सप्ताह के चौबीसों घंटे उपलब्ध है। इसमें एक विशाल क्षमता भी है और यह देश को दीर्घकालिक ऊर्जा सुरक्षा स्थायी तरीके से प्रदान कर सकता है।”

उन्होंने कहा कि परमाणु ऊर्जा क्षमता के विस्तार से देश के ऊर्जा परिवर्तन में सहायता मिलेगी, ताकि शुद्ध शून्य अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को पूरा किया जा सके।

मंत्री ने कहा, “6,780 मेगावॉट की वर्तमान परमाणु ऊर्जा क्षमता को वर्ष 2031 तक बढ़ाकर 22,480 मेगावॉट किया जा रहा है । सरकार ने फ्लीट मोड में स्थापित किए जाने वाले 10 स्वदेशी 700 मेगावॉट दबाव वाले भारी पानी के रिएक्टर (पीएचडब्ल्यूआर) के निर्माण के लिए प्रशासनिक और वित्तीय स्वीकृति दी है।”

उन्होंने कहा, “निर्माणाधीन परियोजनाओं (8,700 मेगावॉट) और स्वीकृत (7,000 मेगावॉट) की प्रगति पर परमाणु क्षमता 2031 तक 22,480 मेगावॉट तक पहुँचने की अपेक्षा है। सरकार ने और अधिक परमाणु ऊर्जा संयंत्र लगाने के लिए पाँच नए स्थानों के लिए सैद्धांतिक स्वीकृति भी दी है।”