समाचार
भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.734 अरब डॉलर बढ़कर 593.323 अरब डॉलर हो गया

24 जून को समाप्त सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.734 अरब डॉलर बढ़कर 593.323 अरब डॉलर हो गया, जो गत तीन सप्ताहों के लिए भंडार में लगातार कमी को समाप्त करता है।

पिछले रिपोर्टिंग सप्ताह में कुल भंडार 5.87 अरब डॉलर घटकर 590.588 अरब डॉलर हो गया था।

24 जून को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए) में वृद्धि के कारण विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि हुई, जो समग्र भंडार का एक प्रमुख घटक है और सोने के भंडार में भी।

भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए), स्वर्ण भंडार, विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) और अंतर-राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ देश की आरक्षित स्थिति सम्मिलित है।

आरबीआई द्वारा जारी साप्ताहिक सांख्यिकीय अनुपूरक के अनुसार एफसीए 2.334 अरब डॉलर बढ़कर 529.216 अरब डॉलर हो गया है।

डॉलर के संदर्भ में व्यक्त की गईं विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों में गैर-अमेरिकी इकाइयों जैसे यूरो, पाउंड, और येन में वृद्धि और गिरावट का असर सम्मिलित होता है, जो इसमें रखे गए हैं।

इसी प्रकार, देश के सोने के भंडार का मूल्य 34.2 करोड़ डॉलर बढ़कर 40.926 अरब डॉलर हो गया है।

अंतर-राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) 17 जून को समाप्त सप्ताह के लिए 5.5 करोड़ डॉलर बढ़कर 18.21 अरब डॉलर हो गया।

इसी तरह आईएमएफ के साथ देश की आरक्षित स्थिति रिपोर्टिंग सप्ताह में 30 लाख डॉलर बढ़कर 4.97 अरब डॉलर हो गई।