समाचार
आठ प्रमुख क्षेत्रों का उत्पादन अप्रैल में छह माह के उच्च स्तर 8.4 प्रतिशत पर पहुँचा

कोयला, रिफाइनरी उत्पादों और बिजली खंडों के बेहतर प्रदर्शन के चलते आठ इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्रों की उत्पादन वृद्धि अप्रैल में बढ़कर 6 माह के उच्चतम स्तर 8.4 प्रतिशत पर पहुँच गई।

मंगलवार को जारी आधिकारिक आँकड़ों के मुताबिक, भारत के आठ प्रमुख उद्योगों का संयुक्त सूचकांक अप्रैल 2022 में 143.2 था, जिसमें अप्रैल 2021 के सूचकांक की तुलना में 8.4 प्रतिशत (अनंतिम) की वृद्धि हुई।

कोयला, बिजली, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, सीमेंट और प्राकृतिक गैस उद्योगों का उत्पादन अप्रैल 2022 में गत वर्ष की इसी अवधि की तुलना में बढ़ा है।

आठ प्रमुख उद्योगों में औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में सम्मिलित मदों के भार का 40.27 प्रतिशत सम्मिलित है।

अप्रैल में उत्पादन वृद्धि अक्टूबर 2021 के बाद से सबसे अधिक है, जब मुख्य क्षेत्र में 8.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

आँकड़ों के मुताबिक, कोयला उत्पादन में 28.8 प्रतिशत की तेजी से वृद्धि हुई, जबकि बिजली उत्पादन में 10.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

अप्रैल 2022 में पेट्रोलियम रिफाइनरी उत्पादों के उत्पादन में 9.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई। प्राकृतिक गैस के उत्पादन में 6.4 प्रतिशत, उर्वरकों में 8.7 प्रतिशत और सीमेंट में 8 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

इस बीच, आँकड़ों से पता चलता है कि कच्चे तेल का उत्पादन अप्रैल में 2.1 प्रतिशत की गिरावट के मुकाबले 0.9 प्रतिशत घट गया। इस माह के दौरान इस्पात उत्पादन में 0.7 प्रतिशत की गिरावट आई।