समाचार
देश की जैव अर्थव्यवस्था गत 8 वर्षों में आठ गुना बढ़कर 80 अरब डॉलर हो गई- प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (9 जून) को कहा, “भारत की जैव अर्थव्यवस्था गत आठ वर्षों में आठ गुना बढ़ गई है और 10 अरब डॉलर से 80 अरब डॉलर तक पहुँच गई है। देश अब बायोटेक के वैश्विक पारिस्थितिकी तंत्र में शीर्ष 10 देशों के संघ में पहुँचने से बहुत दूर नहीं है।”

नई दिल्ली में दो दिवसीय कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद बायोटेक स्टार्टअप एक्सपो को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “गत 8 वर्षों में देश में स्टार्ट-अप की संख्या सैकड़ों से बढ़कर 70,000 से अधिक हो गई है।”

उन्होंने कहा, “मैंने देखा कि ये 70,000 स्टार्ट-अप लगभग 60 विभिन्न उद्योगों में स्थापित हैं। विश्व में हमारे आईटी पेशेवरों के कौशल और नवाचार में विश्वास अपने नए शिखर पर हैं।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “बायोटेक स्टार्टअप एक्सपो 2022 बायोटेक क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत को सशक्त करेगा। बायो-टेक कृषि जैसे कई क्षेत्रों को गति देने में सहायता कर रहा है।”

उन्होंने कहा, “रासायनिक मुक्त खेती को बढ़ावा देने के सरकार के प्रयास भी जैव-क्षेत्र के लिए नए अवसर पैदा कर रहे हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “भारत ने पेट्रोल में इथेनॉल के 10 प्रतिशत मिश्रण का लक्ष्य हासिल कर लिया है। इस उपलब्धि के साथ अब हमने 2030 से 2025 तक पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण करने का लक्ष्य 5 वर्ष कम कर दिया। ऐसे सभी प्रयास बायोटेक के क्षेत्र में नए अवसर उत्पन्न करेंगे।”