समाचार
यूक्रेन में भारतीय युवक सैनिकेश रूस के विरुद्ध लड़ने के लिए यूक्रेनी सेना में हुआ भर्ती

भारतीय सेना में सम्मिलित होने की अपेक्षाओं पर पानी फिरने के बाद कोयम्बटूर का एक 21 वर्षीय युवक आक्रमणकारी रूसी सैनिकों के विरुद्ध लड़ने के लिए यूक्रेन की सेना में भर्ती हो गया।

यह मामला तब सामने आया, जब कुछ केंद्रीय खुफिया अधिकारी कुछ दिन पहले तमिलनाडु में कोयम्बटूर के निकट थुडियालुर में सैनिकेश रविचंद्रन के आवास उसका ब्योरा लेने पहुँचे थे।

भारतीय सेना ने कथित तौर पर सैनिकेश को उसकी लम्बाई के कारण दो बार खारिज कर दिया था। पुलिस ने कहा कि उसने अमेरिकी सशस्त्र बलों में सम्मिलित होने के लिए अमेरिकी वाणिज्य दूतावास से भी संपर्क किया था लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ था।

सैनिकेश के माता-पिता ने अधिकारियों को बताया कि वह युद्ध प्रभावित यूक्रेन में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग कर रहा था और वहाँ युद्ध शुरू होने से कुछ दिन पूर्व एक वीडियो गेम बनाने वाली कंपनी में उसे नौकरी मिली थी।

परेशान माता-पिता ने केंद्र सरकार से सैनीकेश का पता लगाने और उसे भारत वापस लाने की अपील की है क्योंकि वह घर लौटने को तैयार नहीं है।

सैनीकेश 2018 से खारकीव में नेशनल एयरोस्पेस यूनिवर्सिटी में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था और जॉर्जियाई नेशनल लीजन में शामिल हो गया, जिसमें अर्धसैनिक इकाई के स्वयंसेवक सम्मिलित हैं और रूस के विरुद्ध लड़ रहे हैं।