समाचार
भारतीय रेलवे ने वंदे भारत सेमी हाई स्पीड मालगाड़ियाँ चलाने की योजना बनाई

2030 तक अपनी मालवाहक बाज़ार भागीदारी को वर्तमान 28 प्रतिशत से बढ़ाकर 40 प्रतिशत करने हेतु भारतीय रेलवे ने सफल वंदे भारत मंच पर आधारित सेमी हाई-स्पीड मालगाड़ियों को चलाने की योजना बनाई है।

वर्तमान मालगाड़ियों में लगभग 45 वैगन होते हैं और वह केवल 75 किमी प्रति घंटे की शीर्ष गति के साथ चलती हैं। नए मालवाहक रेक में केवल 16 वैगन होंगे और 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगे।

हालाँकि, नई वंदे भारत मालगाड़ी की लागत 60 करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जो मानक मालगाड़ी से तीन गुना अधिक है। भारतीय रेलवे ई-कॉमर्स कंपनियों के सामान को ले जाने के लिए व्यस्त मार्गों पर नई मालगाड़ियों को तैनात करने का इच्छुक है।

दि इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, 25 ऐसी ट्रेनों को लॉन्च करने के लक्ष्य के साथ चेन्नै की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में नई मालगाड़ियाँ बनाई जा रही हैं।

एक अधिकारी ने बताया, “चूँकि, नई मालगाड़ियाँ मेट्रो और अन्य बड़े शहरों को जोड़ने वाले रेलवे के सबसे आकर्षक मार्गों पर समय-सारिणी में चलेंगी। ऐसे में हमारा लक्ष्य अमेज़ॉन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों के पार्सल ले जाना होगा। इस ट्रेन के साथ रेलवे रोड कैरियर की तुलना में लगभग 2.5 गुना तेज़ होगा और कुछ क्षेत्रों में एयर कार्गो कैरियर्स के साथ भी प्रतिस्पर्धा करेंगे।”

भारतीय रेलवे द्वारा शुरू की गई वंदे भारत सेमी-हाई स्पीड ट्रेनें सफल रही हैं। अब केंद्र सरकार की योजना तेजी से इस सेवा के विस्तार की है।