समाचार
भारतीय सेना ने राजौरी सेक्टर के घने जंगलों में छह आतंकी मार गिराए, मुठभेड़ जारी

भारतीय सेना के जवानों ने जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर के घने जंगलों में मंगलवार (19 अक्टूबर) को चल रही मुठभेड़ में पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े छह आतंकवादियों को मुठभेड़ में ढेर कर दिया।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अब भी सेना व अधिकारियों के मध्य मुठभेड़ जारी है। सेना के 16 कॉर्प्स के जवान तीन से चार आतंकियों से मोर्चा लिए हुए हैं।

राजौरी-पुंछ में आतंकियों से मुठभेड़ में नौ सैनिकों की शहादत के बाद 16 अक्टूबर को सीडीएस जनरल बिपिन रावत क्षेत्र का दौरा करने पहुँचे थे। इस दौरान उन्होंने वहाँ के कमांडरों से भेंट की और आतंकियों के विरुद्ध अभियानों के बारे में जानकारी ली थी।

माना जा रहा है कि इस दौरान जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि सुरक्षाबल आतंकियों का पीछा करने की बजाय उनकी प्रतीक्षा करें और अवसर आने पर उन्हें मार गिराएँ।

भारतीय सेना के एक कमांडर ने बताया, “हमारे सैनिकों के शहीद होने की वजह यह थी कि आतंकी जंगलों में छिपकर हमले कर रहे थे। इस वजह से वे आसानी से अपनी जगह बदल लेते थे और बड़ी संख्या में सुरक्षाबल उनकी तलाश में जुटे थे।”

सेना का मानना है कि अफगानिस्तान में परिवर्तित होते हालातों के बाद आतंकवादियों के हौसले बुलंद हुए हैं। इस वजह से उनके घुसपैठ के प्रयासों में तेज़ी आई है।