समाचार
“भारत व चीन के मध्य सीमा समझौते बिना तनाव कम होना संभव नहीं”- सेना प्रमुख नरवाने

भारत और चीन के मध्य लगातार तनाव के बरकरार रहने पर भारतीय सेना प्रमुख नरवाने ने गुरुवार (30 सितंबर) को कहा, “सीमा पर घटनाएँ तब तक जारी रहेंगी, जब तक दोनों देशों के मध्य सीमा समझौते के रूप में लंबे समय तक का समाधान नहीं हो जाता है।”

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार, पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के वार्षिक सत्र में बोलते हुए सेना प्रमुख नरवाने ने कहा, “चीन के साथ हमारा सीमा को लेकर तनाव चल रहा है लेकिन हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। इसका सीमा समझौते के माध्यम से ही समाधान हो सकता है। उत्तरी (चीन) सीमा पर स्थाई शांति के लिए यह आवश्यक है।”

इससे पूर्व, चीन ने भारत पर बुधवार को अग्रिम नीति जारी रखने का आरोप लगाया था। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा था कि भारतीय पक्ष ने लंबे समय से अग्रिम नीति जारी रखी है; भारत ने चीनी क्षेत्र पर अतिक्रमण करने के लिए अवैध रूप से एलएसी को पार किया, जो चीन-भारत सीमा पर तनाव का मूल कारण है।

बता दें कि गत वर्ष पूर्वी लद्दाख में हुए गतिरोध के बाद से भारत और चीन की सेनाएँ तैनात हैं। गत वर्ष जून में गलवान घाटी में दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी। इसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए और कई चीनी सैनिक मारे गए थे, जिसमें से शी जिनपिंग सरकार ने कम से कम चार के मारे जाने की ही पुष्टि की थी।