समाचार
इज़रायली ड्रोन से अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों में चौबीसों घंटे हो रही है निगरानी

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ जारी तनाव के मध्य भारत ने उन्नत इज़रायली ड्रोन के एक बेड़े के माध्यम से अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों की दिन व रात की निगरानी बढ़ा दी है।

एलएसी पर पहाड़ी क्षेत्रों में मध्यम-ऊँचाई के साथ लंबी क्षमता वाले कई इज़रायली ड्रोन हेरॉन 24 घंटे निगरानी कर रहे हैं। वे संबंधित कमांड और नियंत्रण केंद्रों को महत्वपूर्ण डाटा और चित्र एकत्रित करके भेज रहे हैं।

भारतीय सेना ने परिचालन मोर्चे पर अपनी समग्र तैयारियों को बढ़ाने के लिए इस क्षेत्र में एक स्वतंत्र विमानन ब्रिगेड खोली है।

वास्तव में, हेरॉन ड्रोन को पहली बार 4-5 वर्ष पूर्व इस क्षेत्र में तैनात किया गया था। हालाँकि, सेंसर टू शूटर की अवधारणा के तहत निगरानी एकीकरण में काफी सुधार किया गया है, ताकि संभावित परिचालन उद्देश्यों के लिए सैन्य बलों को अल्प सूचना पर तैनात किया जा सके।

टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्रों के हवाले से लिखा, “कुल मिलाकर हमारी दिन और रात की निगरानी क्षमता में गत वर्ष से बड़े पैमाने पर उन्नयन देखा गया है और हम इस क्षेत्र में किसी भी घटना से निपटने के लिए बेहतर स्थिति में हैं।”

इसके अतिरिक्त, भारतीय सेना की विमानन शाखा ने ऊँचाई वाले क्षेत्र में कई मिशनों को पूरा करने में सहायता करने के लिए उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर रुद्र के हथियार प्रणाली एकीकृत (डब्ल्यूएसआई) संस्करण को भी तैनात किया है।