समाचार
“भारत-यूएई व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता 1 मई को लागू होगा”- पीयूष गोयल

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत-यूएई व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता (सीईपीए) 1 मई 2022 को चालू हो जाएगा।

सोमवार (28 मार्च) को दुबई में भारत-यूएई सीईपीए पर एक बिज़नेस-टू-बिज़नेस (बी2बी) बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक समझौता नई शुरुआत, असाधारण परिणामों और भारत-यूएई व्यापार संबंधों में एक आदर्श बदलाव को तय करता है।

वाणिज्य मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार, उन्होंने कहा कि भारत यूएई को अफ्रीका, अन्य जीसीसी व मध्य पूर्वी देशों, सीआईएस देशों और कुछ यूरोपीय देशों के गेटवे के रूप में देखता है।

संयुक्त अरब अमीरात के विदेश व्यापार राज्य मंत्री थानी अल जेयोउदी के साथ बी2बी बैठक को संबोधित करते हुए पीयूष गोयल ने कहा, “यह महत्वपूर्ण रूप से पूरी दुनिया में महत्वपूर्ण बाज़ारों के लिए दरवाजे खोलता है। इस वजह से जब हम एक-दूसरे से जुड़ने जा रहे हैं तो हम सिर्फ यूएई की 1 करोड़ की आबादी के साथ नहीं जुड़ हे हैं। हम दोनों देशों का अपना दृष्टिकोण है। सीईपीए से दोनों देशों को व्यापार मिलने जा रहा है।”

गोयल ने कहा कि मर्चेंडाइज ट्रेड और सर्विसेज को कवर करने वाले इंडिया-यूएई सीईपीए में कई काम पहली बार हुए हैं। यह ट्रेड पैक्ट महज 88 दिनों की अवधि में पूरा हो गया।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “यह समझौता सिर्फ व्यापार के लिए नहीं है, न ही गुड्स और सर्विसेज के व्यापार का है। मुझे लगता है कि इसके भू-राजनीतिक और आर्थिक सहित खासे मायने हैं। इसमें यूएई में बड़ी संख्या में मौजूद भारतीय आबादी को भी ध्यान में रखा गया है।”